SEO friendly article Kaise likhe – 14 Beginner Tips

SEO friendly article kaise likhe यह सवाल beginner के लिए बहुत इम्पोर्टेन्ट है। क्योकि जब तक आपको यह जानकारी नहीं होगी कि Post kaise likha jata hai तब तक आपका आर्टिकल गूगल पर रैंक नहीं करेगा। और यदि आपका आर्टिकल रैंक नहीं करेगा तो ब्लॉग पॉपुलर नहीं हो पाएगा।

Blog ke liye SEO friendly article Kaise likhe

यदि आपको नहीं पता कि SEO फ्रेंडली आर्टिकल कैसे लिखते है तो आपको इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ना चाहिए ताकि आप अपने ब्लॉग पोस्ट को ऑप्टिमाइज़ कर सके। आर्टिकल शुरू करने से पहले यह जान लेते है कि SEO क्या है और SEO kaise kam karta hai, इससे आप इस टॉपिक को अच्छे से समझ पाएंगे।

SEO का full form है Search engine optimization और यह एक प्रोसेस है जिसमे हम सर्च इंजन के अल्गोरिथम और रीडिंग तकनीक को समझकर ब्लॉग पोस्ट को ऑप्टिमाइज़ करते है। जब सर्च इंजन के बोट्स ब्लॉग को क्रॉल करते है तो वह ब्लॉग के सभी पोस्ट को deeply analyse करता है और पोस्ट को अपने सर्वर में यूजर द्वारा सर्च किये गए क्वेरीज के लिए इंडेक्स करके रख लेता है। जब यूजर सर्च बार में क्वेरीज सर्च करता है तो इसी इंडेक्स्ड डाटा को SERPs में दिखाता है।

SEO friendly article kaise likhe

SEO friendly article लिखने के लिए निचे दिए गए इन 13 स्टेप्स को फॉलो करें। इस स्टेप्स में ब्लॉग पोस्ट में इस्तेमाल होने वाले सभी चीजों को शामिल किया गया है।

Keyword research करें

Keyword research टारगेट कीवर्ड को Analyse करने का एक छोटा सा प्रोसेस है। टारगेट कीवर्ड का मतलब है वो कीवर्ड जिस पर आप ब्लॉगपोस्ट लिखना चाहते है। जैसे की आपको Best Dog food पर एक आर्टिकल लिखना है तो आपका टारगेट कीवर्ड Best dog food हो जाएगा।

अब इस Keyword को लेकर आर्टिकल लिखने से पहले आपको इस Keyword पर Research करना है। रिसर्च में आपको यह देखना है की जिस कीवर्ड को आपने टारगेट किया है उसे लोग सर्च करते है या नहीं। Target keyword पर पर्याप्त search volume (minimum 500) होना बहुत जरुरी है क्योकि अगर अपने ऐसा कीवर्ड सेलेक्ट किया जो लोगो के द्वारा सर्च नहीं किया जाता या बहुत ही कम सर्च किया जाता है, तो आपके पेज को सर्च इंजन रैंक नहीं कराएगा।

इसके साथ ही कीवर्ड रिसर्च करते समय आपको एक और बात को ध्यान में रखना है कि आपको ऐसा कीवर्ड टारगेट करना है जिसका Keyword difficulty 20 से ज्यादा न हो। कीवर्ड डिफिकल्टी एक एवरेज स्केल ( माप ) है जो ये बताता है कि उस कीवर्ड के साथ 1st Page पर Rank करना कितना डिफिकल्ट है।

अब beginners के लिए यह प्रश्न आता है कि Keyword research कैसे किया जाता है, क्योकि ऐसे ब्लॉगर जो first time article लिख रहे है उनको कीवर्ड रिसर्च के तरीको के बारे में जानकारी नहीं होती। कीवर्ड रिसर्च करने के लिए हम Keyword Research Tools का इस्तेमाल करते है। यह टूल्स हमें कीवर्ड की सभी जानकारी देता है जो हमारे रिसर्च में काम आता है।

इस तरह के Tools को इस्तेमाल करने के लिए हमें इसका monthly subscription लेना पड़ता है। लेकिन आपको घबराने की जरुरत नहीं है, क्योकि ऐसे बहुत से Free Keyword Research Tool है जिसको आप कीवर्ड रिसर्च करने के लिए इस्तेमाल कर सकते है।

Keyword research करने के लिए कीवर्ड रिसर्च टूल्स पर जाये और अपना Target keyword type करे और कंट्री सेलेक्ट करके सर्च करें। कुछ सेकण्ड्स में यह टूल आपको कीवर्ड की सभी Report दिखा देगा। इस Report में आपको सबसे पहले keyword search volume देखना है और इसके बाद Keyword difficulty देखना है। यदि keyword का सर्च वॉल्यूम रिपोर्ट 500 से अधिक है और keyword difficulty 20 के अंदर है तो आप इस कीवर्ड पर आर्टिकल लिख सकते है और इसे रैंक करा सकते है।

Keyword research करें

Content Idea Generate करें

आर्टिकल लिखने के लिए सही कीवर्ड मिल जाने के बाद आपको अपने आर्टिकल के लिए content idea generate करना है। किसी एक कीवर्ड पर कई तरह के कंटेंट लिखे जाते है, क्योकि एक ही कीवर्ड के लिए सर्च इंजन पर अलग अलग क्वेरीज (टॉपिक सर्च ) की जाती है। जैसे कि मान लीजिये आपका कीवर्ड “Best dog food” है। इस कीवर्ड को लेकर सर्च इंजन में कई तरह से क्वेरीज होती है जैसे –

  • How to buy best dog food in India
  • Best dog food for puppies
  • How to sale best dog food etc.

इन सभी क्वेरीज में एक ही कीवर्ड को टारगेट किया गया है लेकिन सभी का intent (मकसद ) अलग अलग इनफार्मेशन देना है। इसी तरह से आपको भी अपने कीवर्ड के लिए एक Content Idea (Intent) तैयार करना है। इसके लिए आप Google auto suggestion का इस्तेमाल कर सकते है। यह Content idea generate करने के लिए बहुत ही अच्छा टूल है।

Google auto suggestion से Content idea generate करने के लिए Google पर जाकर अपना कीवर्ड टाइप करें। कीवर्ड टाइप करते ही Google आपको कीवर्ड से रेलेटेड क्वेरीज Suggest करेगा। इन Queries को आप अपने आर्टिकल के लिए इस्तेमाल कर सकते है।

Google auto suggestion tool

इसके अलावा आप Answer the public tool की मदद से भी अपने कीवर्ड के लिए आईडिया जेनेरेट कर सकते है। यह टूल कीवर्ड से रेलेटेड सभी पॉसिबल Questions को दिखाता है।

Post layout बनायें

Blog Post लिखने से पहले आपको अपने पोस्ट के लिए एक Layout तैयार करना है यह Layout आर्टिकल को सही दिशा देता है और उसकी Quality को बनाये रखता है। Post Layout तैयार करना बहुत ही इम्पोर्टेन्ट है क्योकि आर्टिकल लिखते समय कभी कभी हम उन चीजों को भी इसके अंदर लिख लेते है जो काम की नहीं होती।

इस तरह से फ़िज़ूल की चीजों को आर्टिकल में लिखने से आर्टिकल पढ़ने वालो को अच्छी जानकारी नहीं मिल पाता और वो आर्टिकल से बोर होने लगते है। सर्च इंजन भी कंटेंट के Intent को समझ नहीं पता और टारगेट कीवर्ड के लिए पेज को रैंक नहीं करता।

Content Layout तैयार करने के लिए सबसे पहले अपने कंटेंट को एक टाइटल दे। यहाँ पर आप उसी टाइटल को लिखे जिसे अपने आर्टिकल के लिए कीवर्ड रिसर्च करके तैयार किया है। अब इस पोस्ट के अंदर उन सभी Sub-topics को Sub-heading में लिखे जिसे आप इस आर्टिकल में कवर करना चाहते है। इससे आप अपने टॉपिक से भटकेंगे नहीं और रीडर को अच्छी जानकारी दे पाएंगे।

Post layout बनायें

Title को SEO friendly बनायें

Post Title को SEO friendly बनाने के लिए Focus keyword (Target keyword) को टाइटल के शुरुआत में लिखे और Title में Power word और Numbers का इस्तेमाल करे। इससे Title अच्छी तरह से Optimized होता है और पेज जल्दी रैंक होता है। टाइटल को ऑप्टिमाइज्ड करते समय इस बात का भी ध्यान रखे कि आपका टाइटल वॉल्यूबल हो।

अपने टाइटल में Long tail keyword का इस्तेमाल करें इससे आपका article बहुत जल्दी रैंक करने लगेगा। क्योंकि यूजर सटीक answer पाने के लिए हमेशा long tail keyword से ही search करते है। टाइटल का Length 60 Character ही रखे इससे search results में वेबपेज का टाइटल यूजर को पूरा दिखाई देगा जिससे यूजर आपके पेज का intent को समझकर इसमें क्लिक करेगा।

Title को SEO friendly बनायें

Blog Post को first page पर rank कराने के लिए पोस्ट के टाइटल का optimized होना जरुरी है। क्योंकि सर्च इंजन टाइटल के keywords और इंटेंट की मदद से ही वेबपेज को समझ पाते है और अपने server में सही जगह इंडेक्स कर पाते है।

Meta description को Optimize करें

Meta Description को Optimize करने के लिए कम शब्दों में सटीक जानकारी लिखे। एक perfect meta description लिखने के लिए इसका Length 160 character ही रखें इससे अधिक होने पर यह सर्च रिजल्ट में पूरा दिखाई नहीं देता जो CTR को impact कर सकता है जिससे आपका रेंकिंग गिर सकता है।

Meta description को Optimize करें

मेटा डिस्क्रिप्शन के शुरुआत में आपका focus keyword होना चाहिए। इस डिस्क्रिप्शन को दो से तीन sentence का ही रखे। Meta description को पढ़ने से यूजर को आपके कंटेंट के बारे में पता चलना चाहिए।

Meta description पेज में लिखे कंटेंट का Summary है जो यूजर और सर्च इंजन को यह जानकारी देता है कि पोस्ट किस बारे में है। यह SEO के लिए इम्पोर्टेन्ट है। सर्च इंजन Title और meta description को समझकर यूजर को रिजल्ट दिखाता है।

Sub-headings का इस्तेमाल करें

एक SEO friendly blog post के लिए Sub-heading आर्टिकल के अंदर सही जगह पर लगाए। Sub-headings में अपना focus keyword add करें। Sub-heading sequence में लिखा होना चाहिए जिससे यूजर को step by step information मिल सके।

Sub heading लम्बे content को sub topic में devide करता है इससे रीडर आर्टिकल को अच्छे से समझ पाता है और पढ़ते समय Sub topic ख़त्म होने पर कुछ सेकंड रेस्ट करता है इससे यूजर बोर नहीं होते।

Sub-headings का इस्तेमाल करें

Headings Search engine को स्ट्रांग सिग्नल देता है कि इसके निचे लिखे पैराग्राफ किस टॉपिक या सब टॉपिक के बारे में लिखा है इससे सर्च इंजन ब्लॉग पोस्ट को deeply समझ पता है और यूजर को सटीक answer देता है।

Post में Image लगाकर इसे Optimize करें

Blog post को better optimize करने के लिए पोस्ट के अंदर इमेज लगाए और इस इमेज को ऑप्टिमाइज़ करे। Image को optimize करने के लिए इमेज के Alt Text में इमेज की जानकारी लिखे। इससे सर्च इंजन यह समझ पाएगा कि इमेज जानकारी को पदर्शित कर रहा है। Alt text में दी जाने वाली जानकारी को पांच से सात शब्दों का ही रखे।

Post में Image लगाकर इसे Optimize करें

ये याद रखे कि इमेज के ऑल्ट टेक्स्ट को आपको अच्छे से describe करना है। मान लो आपके इमेज में एक वाइट डॉग फ़ूड खा रहा है तो आपको alt text में “White dog eating multigrain food” लिखना है। इससे सर्च सर्च इंजन आपके इमेज को बहुत अच्छे से रीड कर पाएगा।

Internal link add करें

Internal link के लिए Perfect Anchor Text चुने यह एंकर टेक्स्ट आपके linked पोस्ट के लिए कीवर्ड का काम करता है और सर्च इंजन उस एंकर टेक्स्ट के हेल्प से linked page को भी क्रॉल करता है। एक Perfect Anchor Text को पढ़ने से यह समझ आ जाता है कि इस टेक्स्ट में कौन सा इनफार्मेशन linked है।

Internal link add करें

पेज इंटरलिंकिंग से क्रॉलर को लिंक्ड पेज में इस पेज से रेलेटेड अधिक जानकारी होने का सिग्नल मिलता है और वह लिंक्ड पेज को भी क्रॉल करता है जिससे कंटेंट की क्वालिटी बढ़ जाती है। इससे पुरे ब्लॉग की रैंकिंग boost होती है।

External link add करें

External पेज को लिंक करने के लिए हमेशा High Domain authority site और High page authority content को ही इस्तेमाल करे। इससे आपके पेज की रैंकिंग boost होती है। External linking में भी आपको एक Perfect anchor text का ही इस्तेमाल करना है।

एक्सटर्नल लिंकिंग आपके पेज की अधूरी जानकारी को पूरा करता है इससे यूजर यदि किसी इनफार्मेशन को नहीं जानता तो वह Anchor text को क्लिक करते उसकी जानकारी ले सकता है।

Url को optimize करें

Url Webpage का एड्रेस होता है। Url को Optimize करने के लिए अपने focus keyword को यूआरएल में add करें। Post के Url को पांच से सात शब्दों के अंदर ही रखने की कोशिश करें। यूआरएल को पढ़ने से इसका मीनिंग निकलना चाहिए।

Url को optimize करें

यूआरएल में कभी भी Numbers और Years का इस्तेमाल न करे इससे कंटेंट ओल्ड हो जाने पर रैंकिंग कम हो सकता है।

Table of content का प्रयोग करें

अपने पोस्ट के अंदर Table of content इस्तेमाल करे। Table of content आर्टिकल के Sub heading के लिए पोस्ट के अंदर Slug (Url) generate करता है। इसका इस्तेमाल सर्च इंजन यूजर को सटीक जानकारी तक पहुंचाने के लिए करता है, जिससे यूजर को वही जानकारी मिलता है जिसे वह ढूंढ रहा है। यह Breakpoint आपके Blog Post को ज्यादा कीवर्ड पर रैंक करने के लिए boost करता है।

Table of content का प्रयोग करें

इस table of content की मदद से यूजर आसानी से पोस्ट के अंदर किसी भी टॉपिक तक एक क्लिक में पहुंच जाता है। और उसी टॉपिक को पढता है कजिसके बारे में यूजर को जानना है।

Easy table of content एक सिंपल और बढ़िया TOC plugin है जिसकी मदद से आप पोस्ट के अंदर आसानी से TOC इम्प्लीमेंट कर सकते है।

Important keyword को bold करें

आर्टिकल से रेलेटेड कीवर्ड और Navigation steps को बोल्ड करे। बोल्ड कीवर्ड क्रॉलर को यूनिक और इम्पोर्टेन्ट जानकारी होने का सिग्नल देता है। इससे पेज की रैंकिंग boost होती है क्रॉलर को टॉपिक समझने में भी हेल्प करता है।

यह यद् रखे की आपको उसी कीवर्ड को ही Bold करना है जो सही मायने में बोल्ड करने लायक हो। किसी भी कीवर्ड को बोल्ड कर देने से आपके आर्टिकल की quality down हो सकता है।

Content lenth को maintain रखें

Blog Post आपके रैंकिंग को प्रभावित करने के साथ साथ आपके Page Experience पर भी असर डालता है। Standard Blog Post की ideal length 1500 से 2000 शब्दों का होता है। इससे कम शब्दों के आर्टिकल से यूजर को पूरी जानकारी नहीं मिल पाता। इससे अधिक होने पर रीडर बोर हो सकते है।

ये सिर्फ एक Ideal length है। आप अपने पोस्ट के अनुसार इसे थोड़ा कम या ज्यादा कर सकते है। बस आपको इस बात का ध्यान रखना है की आपके यूजर आर्टिकल पढ़कर बोर न हो और उसे पूरी जानकारी मिल सके।

Quality Content लिखे

सबसे जरुरी और खास बात आर्टिकल लिखते समय यह ध्यान रखे कि आर्टिकल की quality अच्छी होनी चाहिएक्योकि Quality content को ही सर्च इंजन रैंक करते है। अच्छी quality के आर्टिकल का मतलब है यह आर्टिकल खुद का लिखा होना चाहिए। कॉपी किया हुआ आर्टिकल कभी भी पब्लिश न करे। आर्टिकल पढ़ने वाले को अपना उत्तर मिल जाये।

कंटेंट में इमेज और वीडियो को इस्तेमाल करें और पैराग्राफ को छोटा छोटा लिखे इससे पढ़ने वाले बोर नहीं होते। कंटेंट के बिच बिच में अपने focus keyword को naturally तरीके से इम्प्लीमेंट करने की कोशिश करे। आर्टिकल में Keyword Stuffing न करें।

मुझे उम्मीद है कि आपको how to write seo friendly article in hindi के इस पोस्ट में यह समझ आ गया होगा कि blog ke liye article kaise likhe. यदि आपको ब्लॉग्गिंग से रेलेटेड कोई भी समस्या है तो आप मुझसे Discuss कर सकते है इस पोस्ट में कमेंट कर सकते है।

More resource

WordPress Optimization Guide

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *