How to start a business in Hindi | बिज़नेस कैसे शुरू करे

How to start a business in Hindi गाइड की मदद से आप एक Successful Business शुरू कर सकते है और अधिक से अधिक पैसे कमा सकते है।

How to start a business in hindi

आजकल पापुलेशन में अत्यधिक बढ़ोतरी हो रही रही है जिसके कारण सरकार सभी युवाओ को जॉब नहीं दे पा रहा है। इस समस्या से निपटने के लिए बेरोज़गार युवा प्राइवेट नौकरी की ओर जा रहे है मगर प्राइवेट नौकरी भी बहुत ही मुश्किल से मिल रहा है।

काफी मसक्कत करके प्राइवेट नौकरी ढूंढ भी लेते है तो पेमेंट इतना काम होता है कि इससे आपकी ज़िंदगी बहुत ही मुश्किल से चल पाता है। आप इन पैसों से अपना शौक़ पूरा नहीं कर सकते।

अगर आप चाहते कि आपकी ज़िंदगी ऐसे ना कटे तो आप खुद का बिज़नेस शुरू कर सकते है। जहाँ आप अपनी मर्जी के खुद मालिक रहेंगे और अपने सभी शौक़ आसानी से पूरा कर सकेंगे।

यदि आपको नहीं पता की बिज़नेस की शुरुआत कैसे करते है तो आपको परेशान होने की जरुरत नहीं है। आप मेरे द्वारा लिखी गई इस “How to start a business in Hindi” गाइड को फॉलो करके एक सफल बिज़नेस स्टार्ट कर सकते है।

How to start a business in Hindi | बिज़नेस कैसे शुरू करे

एक सफल बिज़नेस की शुरुआत करने के लिए आपको ये 9 काम करने होंगे जिसके बाद आप खुद के बिज़नेस का मालिक बन जाएंगे।

प्रोडक्ट और सर्विस चुने

बिज़नेस शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको एक Product/Servise का चुनाव करना है इसमें आपको डिसाइड करना है कि आप किस चीज का बिज़नेस करना चाहते है या लोगो को किस तरह की सेवा देना चाहते है।

एक सक्सेसफुल बिज़नेस में प्रॉडक्ट/सर्विस का चुनाव मार्केटिंग रिसर्च से डिसाइड किया जाता है। इसमें सबसे पहले आपको अपने बिज़नेस एरिया को Analyse करना है और उस एरिया में लोगो की जरूरतों को समझना है। एक बार आप लोगो के जरुरत को समझ जाते है तो आपको प्रोडक्ट चुनाव करने में आसानी होगा।

अब आपको उस प्रोडक्ट/सर्विस को सेलेक्ट करना है जिसे लोग रेगुलर इस्तेमाल करते है इससे आपका बिज़नेस ज्यादा प्रॉफिटेबल होगा। प्रोडक्ट/सर्विस चुनते समय इस बात का ध्यान रखें कि पहले से उस एरिया में ऐसा बिज़नेस न हो जैसा आप शुरू करना चाहते है।

यदि आप अपनेकॉम्पिटिटर को टक्कर दे सकने में समर्थ है तो आप पहले से मौजूद बिज़नेस को भी शुरू कर सकते ही।

दुकान/ऑफिस के लिए एक अच्छी जगह खोजे

Product का चुनाव कर लेने के बाद अब बारी है अपने बिज़नेस के लिए एक Physical Place (शॉप/ऑफिस) खोजने की। जहाँ आप अपने प्रोडक्ट रख सके और लोगो को सर्विस दे सके।

अपने शॉप के लिए किसी ऐसे जगह को चुने जहाँ रेगुलर प्रोडक्ट लेने के लिए लोगो की भीड़ लगती हो। इसके पीछे एक खास Reason है कि लोग अपने सभी जरुरत के सामान को एक ही जगह से लेना पसंद करते है।

या ऐसे जगह को चुने जहां लोगो के कॉलोनी बसा हो। इससे आप उस कॉलोनी को प्रोडक्ट Sale करने के लिए टारगेट कर सकते है। और उस कॉलोनी को अपना Regular Customer बना सकते है।

बिज़नेस प्लान तैयार करें

किसी भी बिज़नेस को शुरू करने के लिए एक Proper Business Plan की जरुरत पड़ती है। प्लान किये बिना कोई भी बिज़नेस शुरू करने पर आपका बिज़नेस Loss में जा सकता है।

एक स्मूथ बिज़नेस प्लान के लिए आपको बिज़नेस में इस्तेमाल होने वाले सभी प्रोसेस को प्रॉपर तरीके से समझ कर इसके लिए एक सिस्टम चैन तैयार करना है। इस प्लान में आपको नीचे दिए गए प्लान को अपने बिज़नेस में शामिल करना है।

Import – यह किसी भी बिज़नेस का सबसे पहला और मुख्य चरण है। आपको बिज़नेस शुरू करने से पहले यह प्लान कर लेना है कि आप अपने शॉप के लिए Goods (सामान) कहा से और कैसे लाएंगे।

Export – शॉप के प्रोडक्ट को लोगो तक कैसे पहुँचाना है इस बात का भी आपको प्रॉपर ध्यान रखना है। उदाहरण के लिए आप लोगो से कॉल पर या अन्य ऑनलाइन मेथड से आर्डर ले सकते है और प्रोडक्ट घर पंहुचा सकते है या फिर लोग आपके शॉप पर आके प्रोडक्ट खरीद सकते है।

Promotion – बिज़नेस कोई सा भी हो मगर इसे लोगो तक पहुंचना अत्यंत आवश्यक है। कोई भी नया बिज़नेस तब तक नहीं चलता जब तक लोग इसे जानते नहीं। इसीलिए आपको अपने बिज़नेस को प्रमोट करने के लिए प्लान तैयार करना है ताकि लोग आप तक पहुंच सके।

Other – इसके अलावा आप अपने शॉप में रखने के लिए प्रोडक्ट लिस्ट तैयार कर सकते है।

बिज़नेस के लिए बजट तैयार करें

बिज़नेस के लिए प्रोडक्ट का चयन और इसकी Quantity आपके Budget पर निर्भर करता है। बिज़नेस के लिए बजट बनाना बहुत ही आसान प्रोसेस है।

बिज़नेस बजट बनाने के लिए सबसे पहले आपको उन प्रोडक्ट की लिस्ट बनानी है जिसे आप अपने बिज़नेस/शॉप में रखना चाहते है अब इस प्रोडक्ट की Quantity और Price लिखना है। अब इसमें लगने वाले ट्रांसपोर्ट और सर्विस चार्ज को लिस्ट में Add करना है। यदि आप शॉप को किराये पर ले रहे रहे तो इसका चार्ज भी आपको यहाँ Add करना है।

इसके अलावा आपको कुछ सिक्योरिटी अमाउंट भी अपने पास रखना है ताकि एक्स्ट्रा सामान के लिए या इमरजेंसी के समय इस्तेमाल कर सकें। अब इन सब अमाउंट को जोड़कर एक आकड़ा तैयार करे। यही आकड़ा आपके बिज़नेस का बजट अमाउंट है।

यह भी पढ़ें: 12वीं (साइंस) के बाद ये कोर्स आपको हाई सैलेरी दे सकती है। (In english)

प्रोडक्ट डीलर से संपर्क करें और सामान ख़रीदे

अब आपको अपने गुड्स के लिए Product dealer (थोक विक्रेता ) सेलेक्ट करना है। इसके लिए आप कुछ डीलर के पास जाइये और मीटिंग करिये। मीटिंग में आप अपने बिज़नेस के बारे में डीलर को बताइये और पूछिए की यदि आप उनसे प्रोडक्ट खरीदते है तो वह आपको किस भाव से प्रोडक्ट देंगे और इसके साथ ही और क्या क्या सुविधा देंगे जैसे ट्रांसपोर्ट, डायरेक्ट डिलीवरी, गुड्स रिटर्न आदि।

आपको ऐसे 3-4 गुड्स डीलर के साथ मीटिंग करनी है इसके बाद जिसका भाव, और सर्विस आपको पसंद आएगा उनसे आप डील करिये और बताइये की कब और कितना सामान की जरुरत है। इसके बाद सामान खरीद लें।

बिज़नेस सेटअप करे

सामान खरीदने के बाद आपको अब अपने शॉप/ऑफिस को सेटअप करना है ताकि आप अपना बिज़नेस शुरू कर सकें। शॉप को सेटअप करते समय आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आपके शॉप में कस्टमर के वेट करने के लिए जगह होनी चाहिए।

अगर आपका बिज़नेस प्रोफेशनल है तो आपको एक मीटिंग रूम या ऑफिस रूम रखना है जहा आप कस्टमर के साथ मीटिंग कर सके और प्रोडक्ट डील कर सके।

यदि आपका बिज़नेस ज्यादा बड़ा है जो एक से हैंडल नहीं हो पाएगा तो आपको अपने शॉप में जरुरत के अनुसार वर्कर लगाना चाहिए जिससे आपके कस्टमर को इंतज़ार करना न पड़े और अच्छी सर्विस मिले।

शॉप/सर्विस का विज्ञापन करें

यह बहुत ही आवश्यक है की लोग आपके बिज़नेस के बारे में जाने और आपसे सामान ख़रीदे। मगर आपका शॉप नया होने के कारण लोगो को खुद से इसके बारे में पता नहीं चलेगा इसीलिए आपको अपने शॉप की जानकारी लोगो तक पहुंचना होगा। आप निचे दिए इन तरीको से अपने शॉप की जानकारी लोगो तक पंहुचा सकते है।

  • अख़बार के साथ अपना पाम्पलेट बाटकर।
  • पब्लिक प्लेस में पोस्टर लगाकर।
  • दीवारों में पेंटिंग करवाकर।
  • पब्लिक प्लेस में कैंप लगाकर।
  • लोकल टीवी चैनल में विज्ञापन देकर आदि।

कस्टमर को संतुस्ट करें

ये आपके कस्टमर को रेगुलर कस्टमर में बदलने के लिए बहुत आवश्यक है। यदि आपके शॉप पर कोई नया कस्टमर आता है तो आपको उसे एक अच्छी सर्विस और गुड quality प्रोडक्ट ही देना है ताकि वह कस्टमर आपके शॉप पर दोबारा आये।

शॉप पर आकर संतुस्ट होने वाले कस्टमर आपके दुकान का पब्लिसिटी भी करते है और अपने साथ और कस्टमर लेकर आते है इसीलिए कस्टमर को कभी गुस्सा होकर या दुकान छोड़कर जाने मत दीजिये।

प्रोडक्ट ऑडिट और रीऑर्डर करें

प्रोडक्ट ऑडिट का मतलब है अपने प्रोडक्ट की जांच कर ख़त्म हुए या कम बचे हुए प्रोडक्ट का पता लगाना। ऑडिट के मदद से हम अपने शॉप को Maintain रख सकते है जिससे कस्टमर को वापस जाना ना पड़े।

अपने प्रोडक्ट को ऑडिट करने के लिए अपने शॉप में उपलब्ध रहने वाले प्रोडक्ट का लिस्ट निकाले या तैयार करे। इस प्रोडक्ट लिस्ट के साथ अपने शॉप के प्रोडक्ट को मिलाते जाये और लिखते जाये की आपके पास कौन सा प्रोडक्ट कितना बचा है।

ऑडिट पूरा होने के बाद जो प्रोडक्ट आपके पास कम बचा है उसका एक लिस्ट तैयार करें और इसके बाद अपने डीलर से संपर्क करके प्रोडक्ट रीऑर्डर करें।

इस तरह से आप एक सफल बिज़नेस की शुरुआत कर सकते है और अपनी ज़िंदगी अच्छे से बिता सकते है। मुझे उम्मीद है आप How to start a business in Hindi Guide की मदद से ये जान गए होंगे कि एक सफल बिज़नेस कैसे शुरू करे।

More resource

Leave a Comment

Your email address will not be published.