होम डिलीवरी बिज़नेस कैसे शुरू करें। Home delivery business model

होम डिलीवरी बिज़नेस शुरू करने के लिए आप इस Home delivery business model को फॉलो करके एक सक्सेसफुल बिज़नेस शुरू कर सकते है। जो आपको लाखो रूपए कमा के दे सकता है।

होम डिलीवरी बिज़नेस कैसे शुरू करें। Home delivery business model

Home delivery service आज सभी इस्तेमाल करने लगे है। आज के समय में कोई सामान खरीदने घर से बाहर नहीं निकलना चाहता तो किसी के पास समय की कमी होने के कारन वह मार्केट नहीं जा पाता। इस कंडीशन में आपको बिज़नेस का एक सुनहरा मौका मिल रहा है जिससे आप एक Successful बिज़नेस खड़ा कर सकते है।

इस गाइड में होम डिलीवरी बिज़नेस का मॉडल है जो आपको इस बिज़नेस को शुरू करने में सहायता करेगा।

Home Delivery Service क्या है।

होम डिलीवरी का हिंदी मीनिंग घर पहुंच सेवा है। इसमें किसी कस्टमर के द्वारा आर्डर मिलने पर प्रोडक्ट को दिए गए एड्रेस पर पहुँचाना होता है।

इस सेवा के माध्यम से घर बैठे व्यक्ति जरुरत की सामान को अपने घर पर ही माँगा सकता है। FedEx इस सर्विस का एक अच्छा उदाहरण है जो E-commerce Store के ऑर्डर्स को दिए गए एड्रेस पर डिलीवर करता है।

होम डिलीवरी का भविष्य क्या है।

होम डिलीवरी का भविष्य बहुत ही अच्छा है। जिस स्पीड से India में online purchasing का क्रेज़ बढ़ रहा है कुछ सालो बाद लोकल बिज़नेस में भी होम डिलीवरी सर्विस शुरू हो जाएगा जिससे सब्जियां, राशन, कपड़े इत्यादि कस्टमर अपने घर पर मंगा सकेंगे।

होम डिलीवरी बिज़नेस में कितना लागत आता है?

Home delivery business की लागत आपके बिज़नेस के साइज के ऊपर डिपेंड करता है। यदि आप किसी शहर के एक ही मोहल्ले में यह बिज़नेस शुरू करना चाहते है तो 50 हज़ार रूपए से आप इस बिज़नेस को शुरू कर सकते है।

यदि आप पुरे शहर में इस बिज़नेस को करना चाहते है तो आपके बिज़नेस मॉडल के हिसाब से लागत आएगी जैसे यदि आप डिलीवर करने के लिए फोर व्हीलर लेते है तो उसका कास्ट भी इसमें जुड़ जाएगा। यदि आप बाइक से डिलीवर करना चाहते है तो इसमें आपको कम खर्च आ सकता है।

एक मोटा हिसाब लगाने पर आपको इन सभी सामानो पर लागत आएगा।

Store room and office rent10,000 – 15,000
Web development Cost 20,000 – 40,000
Four Wheeler7,00,000 – 12,00,000
Two Wheeler 80,000 x According to need
Company registration15,000 – 25,000

यह एक अनुमानित क़ीमत है इन्हे फाइनल न माने और बिज़नेस शुरू करने से पहले मार्केट की सही क़ीमत का पता जरूर करें।

यदि आप फोर व्हीलर या टू व्हीलर को किराये से लेते है तो आपको कम लागत की जरुरत पड़ेगी। ये अपने सुविधा के अनुसार decide करें।

यदि आप बड़े पैमाने पर इस बिज़नेस को शुरू करना चाहते है तो आपको अपनी कंपनी को रजिस्टर करना पड़ेगा। यदि आपका बिज़नेस छोटा है तो आपको रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता नहीं है।

होम डिलीवरी बिज़नेस शुरू करने के लिए किन चीजों की जरुरत होती है?

इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपको निचे दिए गए चीजों की आवश्यकता पड़ती है।

  • ऑफिस
  • स्टोर रूम
  • डिलीवरी व्हीकल
  • डिलीवरी बॉयस
  • वेब एंड मोबाइल ऍप्लिकेशन
  • रिटेलर शॉप (थर्ड पार्टी )

होम डिलीवरी बिज़नेस कैसे शुरू करें (Home delivery business model)

बिज़नेस एरिया का चुनाव करें

सबसे पहले आपको ये decide करना है की आप कौन कौन से एरिया या शहर में प्रोडक्ट डिलीवर करना चाहते है। आप अपने बजट और मैनेजमेंट कैपेसिटी के अनुसार ही एरिया को चुने। इस बात का भी ध्यान रखे कि चुने गए एरिया में यातायात सुविधा हो ताकि आपकी डिलीवरी व्हीकल सभी जगह पहुंच सके।

जितने बड़े एरिया को आप होम डिलीवरी बिज़नेस के लिए चुनते है आपको उतना अधिक डिलीवरी बॉय की आवश्यकता होगी।

ऑफिस और स्टोररूम किराये पर लें

अपने बिज़नेस को मैनेज करने और डिलीवरी प्रोडक्ट को स्टोर करने के लिए एक ऑफिस और एक स्टोररूम की व्यवस्था करें। इसके लिए आप किराया भी ले सकते है या खुद का स्थान होने पर आप उसे इस्तेमाल कर सकते है।

अपने ऑफिस और स्टोररूम को बिज़नेस एरिया के सेंटर में लें तो आपको एरिया वाइज प्रोडक्ट डिलीवर करने में आसानी होगी और जल्दी प्रोडक्ट की डिलीवरी होगी।

सॉफ्टवेर (वेब ऍप्लिकेशन) बनवाए

किसी वेब डेवलपर से कस्टमर को आर्डर प्लेस करने और रिटेलर को आर्डर लेने के लिए एक ऐसा एप्लीकेशन बनवाए जो कस्टमर रिटेलर और आपके बिज़नेस के बीच प्रोसेस मैनेज करें।

इस एप्लीकेशन में ये फीचर्स होने चाहिए।

रिटेलर अकाउंट रजिस्ट्रेशन : इस फीचर के द्वारा रिटेलर अपनी दुकान आपके सर्विस से जोड़ सके जिससे आप उसके प्रोडक्ट को कस्टमर तक डिलीवर कर सके।

रिटेलर डैशबोर्ड : इस सॉफ्टवेर में रिटेलर के लिए अपने प्रोडक्ट add करने और आर्डर मैनेज करने के लिए एक डैशबोर्ड होना चाहिए।

कस्टमर अकाउंट रजिस्ट्रेशन : कस्टमर इस ऍप्स में अपना अकाउंट बना सके जिससे कस्टमर का डिटेल (नाम और एड्रेस ) उसके प्रोडक्ट डिलीवर करने के लिए इस्तेमाल कर सके।

एडमिन डैशबोर्ड : यह आपके बिज़नेस मैनेज करने के लिए होना चाहिए जहाँ रिटेलर का अकाउंट डिटेल्स दिखे और उसके द्वारा रेडी किये गए प्रोडक्ट की जानकारी भी मिले।

डिलीवरी बॉय डैशबोर्ड : डिलीवरी बॉय के लिए भी इसमें डैशबोर्ड होना चहिये जहा से वह प्रोडक्ट के पिकअप और डिलीवर होने की जानकारी अपडेट कर सके।

पेमेंट सिस्टम : आपके इस सॉफ्टवेर में पेमेंट सिस्टम ऐसा रखें कि आपके और रिटेलर के बिच पैसो का लेन देन इसी के माध्यम से हो और इसका लेज़र डिटेल्स भी तैयार हो। यदि आप कस्टमर को ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा देना चाहते है तो इस सुविधा को भी सॉफ्टवेर में रखें।

मैनेजमेंट सिस्टम : आपके सॉफ्टवेर का मैनेजमेंट सिस्टम कुछ ऐसा होना चाहिए कि कस्टमर द्वारा आर्डर करने पर डिटेल्स रिटेलर के पास जाएँ और रिटेलर द्वारा प्रोडक्ट पैक करने का अपडेट आपके पास आये।

इसके अलावा आप अपने अनुसार इस सॉफ्टवेर को कस्टमाइज करवा सकते है।

गाड़ियों का प्रबंध करें

सामान को डिलीवर करने के लिए आप जिस गाड़ी का इस्तेमाल करना चाहते है उसका प्रबंध करें और उसे प्रोडक्ट डिलीवर करने के लिए तैयार रखें।

होम डिलीवरी बिज़नेस के लिए डिलीवरी बॉय काम पर रखें

होम डिलीवरी बिज़नेस में आप खुद जाकर सभी प्रोडक्ट को डिलीवर नहीं कर पाएंगे यदि आप डिलीवर करने जाते भी है तो बिज़नेस को मैनेज करना मुश्किल हो जाएगा।

इसीलिए प्रोडक्ट के होम डिलीवरी के लिए आपको डिलीवरी बॉय रखना होगा। आप अपने जरुरत के अनुसार कुछ लड़के प्रोडक्ट को पिकअप और डिलीवर करने के लिए काम पर रखें और उन्हें इसके बदले पेमेंट दें।

रिटेलर्स को अपने बिज़नेस के बारे में बताएं और जुड़ने के लिए कहे

अब आपको बिज़नेस स्टार्ट करना है। आपको अपने बिज़नेस एरिया के सभी रिटेलर्स को अपने बिज़नेस के बारे में बताना है और उन्हें अपने बिज़नेस से जुड़ने के लिए कहना है। इस तरह से आपको अपने बिज़नेस के लिए कस्टमर बनाना है।

आपको उन्ही रिटेलर्स को जोड़ना है जिसका प्रोडक्ट आप डिलीवर करना चाहते है। कहने का यह तात्पर्य है कि आपको यह decide कर लेना है कि आपको किस तरह के प्रोडक्ट डिलीवर करना है।

अपने सॉफ्टवेर को पब्लिश और प्रमोट करें

रिटेलर को अपने बिज़नेस से जोड़ लेने के बाद आपको अपने सॉफ्टवेर को पब्लिक तक पहुँचाना है। इसके लिए अपने सॉफ्टवेर को paly store में पब्लिश कर सकते है और softwere के लिए विज्ञापन चला सकते है। इससे लोग आपके ऍप्लिकेशन को जानने लगेंगे और आर्डर करना शुरू करेंगे।

आर्डर को पिकअप और डिलीवर करने का समय तय करें

अपने सुविधा के अनुसार आप प्रोडक्ट को एक दिन में कई बार पिकअप और डिलीवर कर सकते है मगर इससे आपको ज्यादा लागत आएगा। इसीलिए एक दिन में एक बार पिकअप और एक ही बार डिलीवर करें तो ज्यादा अच्छा है।

आपको अपने कस्टमर के आर्डर करने के टाइम को analyze करके सभी आर्डर को इकठ्ठा करने के लिए एक समय का चुनाव करना है। इसके बाद उस प्रोडक्ट को डिलीवर करने के लिए एक समय तय करना है।

बिज़नेस जारी रखें

अब आर्डर मिलने पर प्रोडक्ट डिलीवर करना शुरू करिये। इस तरह से आपका बिज़नेस एक मैनेजमेंट के हिसाब से चलना शुरू हो जाएगा और आपको इनकम होना शुरू हो जाएगा। जैसे जैसे आपका कस्टमर बढ़ेगा आपकी इनकम भी बढ़ेगी।

होम डिलीवरी बिज़नेस से कितना कमा सकते है?

इस Home delivery business model के अनुसार होम डिलीवरी बिज़नेस से लाखो रूपए महीने के कमा सकते है। मान लीजिये आप एक डिलीवरी का 70 रूपए चार्ज करते है और एक दिन में 100 प्रोडक्ट डिलीवर करे है तो आप दिन के 100×70=7000 और महीने के 7000×30=2,10,000 रूपए कमा सकते है।

समय के साथ टेक्नोलॉजी बदल रहा है और लोगो को अधिक से अधिक सुविधाए मिल रही है। यदि सुविधा एक व्यापारी के लिए बिज़नेस का अवसर भी पैदा कर रहा है। जरुरत है तो बस इन अवसरों को पहचानने का।

आपको मेरे द्वारा तैयार किया गया यह होम डिलीवरी बिज़नेस कैसे शुरू करें। Home delivery business model कैसा लगा कमेंट करके जरूर बताये। यदि इसमें कोई कमी है तो भी बताये ताकि मै उसे इस मॉडल में जोड़ सकूँ।

More resource

Leave a Comment

Your email address will not be published.